Shayari: 10,000+ Best Hindi Shayari Collection of 2019

401. हक़ीकत जान लो जुड़ा होने से पहले, मेरी सुन लो अपनी सुनने से पहले, ये सोच लेना भूलने से पहले, बहुत रोई हैं ये आँखें मुस्कुराने से पहले!!

402. उलझी शाम को पाने की ज़िद न करो; जो ना हो अपना उसे अपनाने की ज़िद न करो; इस समंदर में तूफ़ान बहुत आते है; इसके साहिल पर घर बनाने की ज़िद न करो |

403. अभिमान की अपेक्षा नम्रता से अधिक लाभ होता है।

404. दिल से रोए मगर होंठो से मुस्कुरा बैठे, यूँही हम किसी से वफ़ा निभा बैठे, वो हमे एक लम्हा ना दे पाए अपने प्यार का, और हम उनके लिए अपनी ज़िंदगी गवां बैठे |

405. भीड़ की आदत नहीं मुझे, थोड़े में जीना सीख लिया है मैंने, चन्द दोस्त हैं, चन्द दुआएं हैं, बस इन खुशियों को गले लगा लिया मैंने ।

406. निराशा आशा के पीछे-पीछे चलती है।

407. क्या पता था प्यार करके दिल तोड़ जायेगी, दिल मे प्यार भर के मुँह मोड़ जाएगी, ऐ बेवफा, तू जिससे भी दिल लगाएगी देखना, कभी चैन की सांस ना ले पाएगी |

408. रात गुमसूँ है मगर चेन खामोश नही, कैसे कह दू आज फिर होश नही, ऐसा डूबा तेरी आखो की गहराई मैं, हाथ में जाम है मगर पीने का होश नही |

409. निराशा निर्बलता का चिह्न है।

410. सब कुछ मिला बस खुदाई के सिवा, ज़िंदगी बहुत पसंद आई रुसवाई के सिवा, मेरी चाहत का एहसास भी न होगा, उसकी हर अदा पसंद आई बेवफ़ाई के सिवा |

411. वफ़ा का दरिया कभी रुकता नही, इश्क़ में प्रेमी कभी झुकता नही, खामोश हैं हम किसी के खुशी के लिए, ना सोचो के हमारा दिल दुःखता नहीं!

412. जिस तरह पानी को कोई जल, कोई आब, कोई वाटर कहते हैं, उसी तरह एक ही सच्चिदानंद परमेश्वर को कोई अल्लाह, कोई हरि, कोई गॉड कहकर पुकारते हैं।

413. बिन उस की ज़िंदगी दर्द-ए-तन्हाई है, मेरी आँखों में क्यू मौत सिमट आई है, कहते हैं लोग इश्क़ को इबादत यारो, इबादत में फिर क्यू इतनी रुसवाई है |

414. किसी ने मुझ से कहा बहुत खुबसूरत लिखते हो यार,मैंने कहा … खुबसूरत मैं नहीं वो है जिसके लिए हम लिखा करते है |

415. उस अल्लाह की स्तुति करनी चाहिए, जो समस्त संसार का चालक, दयालु, उदार पर अंतिम निर्णय के समय न्यायाधीश भी है।

416. हम भी कभी मुस्कुराया करते थे, उजाले मे भी शोर मचाया करते थे, उसी दिए ने जला दिया मेरे हाथो को, जिस दिए को हम हवा से बचाया करते थे |

417. कोई वादा ना कर, कोई ईरादा ना कर, ख्वाइशों मे खुद को आधा ना कर, ये देगी उतना ही जितना लिख दिया खुदा ने, इस तकदीर से उम्मीद ज़्यादा ना कर |

418. ईश्वर की कोई बौद्धिक परिभाषा नहीं दी जा सकती। हाँ, उसका आत्मा के सहारे अनुभव किया जा सकता है।

419. संघर्ष में आदमी अकेला होता है, सफलता में दुनिया उसके साथ होती है, उसीने इतिहास रचा है |

420. काँच का तोहफा ना देना कभी, रूठ कर लोग तोड दिया करते हैं, जो बहुत अच्छे हो उनसे प्यार मत करना, अकसर अच्छे लोग ही दिल तोड दिया करते है |

421. पाप एक प्रकार का अँधेरा है, जो ज्ञान का प्रकाश होते ही मिट जाता है।

422. चलता रहूँगा पथ पर, चलने में माहिर बन जाऊंगा !! या तो मंजिल मिल जाएगी, या अच्छा मुसाफ़िर बन जाऊंगा |

423. न मिले किसी का साथ तो हमें याद करना, तन्हाई महसूस हो तो हमें याद करना, खुशियाँ बाटने के लियें दोस्त हजारो रखना, जब ग़म बांटना हो तो हमें याद करना |

424. पुस्तकें मन के लिए साबुन का कार्य करती हैं।

425. जो मजिंलो को पाने की चाहत रखते, वो समंदरो पर भी पथरो के पुल बना देते है|

426. दर्द का एहसास जानना है तो प्यार करके देखो, अपनी आँखों में किसी को उतार कर देखो, चोट उनको लगेगी आँसू तुम्हें आ जायेंगे, ये एहसास जानना हो तो दिल हार कर देखो।

Read More  Cute Birthday Shayari In Hindi {*FRESH*}

427. किसी की मजबूरियों पर मत हँसिए कोई मजबूरियां खरीद कर नहीं लाता डरिये वक्त की मार से क्युकी बुरा वक्त किसी को बता कर नहीं आता |

428. पानी को बर्फ में, बदलने में वक्त लगता है !! ढले हुए सूरज को, निकलने में वक्त लगता है |

429. तेरी मोहब्बत से मुझे इनकार नहीं , कौन कहता है जान मुझे तुझसे प्यार नहीं , तुझसे वादा है साथ निभाने का, पर मुझे अपनी साँसों पर ऐतबार नहीं |

430. मत करना अभिमान खुद पर ऐ इन्सान तेरे और मेरे जैसे कितनो को खुदा ने माटी से बनाकर माटी में मिला दिया |

431. टूटने लगे हौसले तो ये याद रखना, बिना मेहनत के तख्तो-ताज नहीं मिलते, ढूंढ़ लेते हैं अंधेरों में मंजिल अपनी, क्योंकि जुगनू कभी रौशनी के मोहताज़ नहीं होते |

432. मोहब्बत की गवाही अपने होने की ख़बर ले जा जिधर वो शख़्स रहता है मुझे ऐ दिल! उधर ले जा |

433. मिलने को तो हजार लोग मिल जाते है लेकिन हजारो गलतियां माफ़ करने वाले माँ बाप नहीं मिलते |

434. जो मुस्कुरा रहा है, उसे दर्द ने पाला होगा, जो चल रहा है उसके पाँव में ज़रूर छाला होगा, बिना संघर्ष के चमक नहीं मिलती, जो जल रहा है तिल-तिल, उसी दीए में उजाला होगा |

435. प्यार करो तो हमेशा मुस्करा के किसी को धोखा ना दो अपना बना के कर लो याद जब तक हम ज़िंदा हैं फिर ना कहना कि चले गए दिल में यादें बसा कर |

436. ज्यादा बोझ लेकर चलने वाले अक्सर डूब जाते है फिर चाहे वह अभिमान का हो या सामान का |

437. जीत निश्चित हो तो कायर भी लड़ सकते हैं,बहादुर वे कहलाते हैं, जो हार निश्चित हो,फिर भी मैदान नहीं छोड़ते |

438. जिस जिस ने मुहब्बत में, अपने महबूब को खुदा कर दिया, खुदा ने अपने वजूद को बचाने के लिए, उनको जुदा कर दिया |

439. असफलता जीवन का एक हिस्सा है और फिर से परयास करने से ही सफलता मिलती है |

440. शाम सूरज को ढ़लना सिखाती है,शमा परवाने को जलना सिखाती है, गिरने वाले को होती तो है तकलीफ,पर ठोकर ही इंसान को चलना सिखाती है|

441. सकून मिलता है जब उनसे बात होती है , हज़ार रातों में वो एक रात होती है, निगाह उठाकर जब देखते हैं वो मेरी तरफ , मेरे लिए वो ही पल पूरी कायनात होती है।

442. एक सफल व्यक्ति बनने की कोशिश मत करो, बल्कि मूल्यों पर चलने वाले व्यक्ति बनो |

443. लहरों का शांत देखकर ये मत समझना,की समंदर में रवानी नहीं है, जब भी उठेंगे तूफ़ान बनकर उठेंगे,अभी उठने की ठानी नहीं है |

444. आग दिल में लगी जब वो खफ़ा हुए, महसूस हुआ तब, जब वो जुदा हुए, करके वफ़ा कुछ दे ना सके वो, पर बहुत कुछ दे गए जब वो बेवफ़ा हुए |

445. क्यों डरें कि ज़िंदगी में क्या होगा ! हर वक़्त क्यों सोचें कि बुरा होगा ! बढ़ते रहें मंज़िलों की ओर हम ! कुछ ना भी मिला तो क्या तज़ुर्बा तो नया होगा |

446. खोल दे पंख मेरे, कहता है परिंदा, अभी और उड़ान बाकी है, जमीं नहीं है मंजिल मेरी, अभी पूरा आसमान बाकी है, लहरों की ख़ामोशी को समंदर की बेबसी मत समझ ऐ नादाँ, जितनी गहराई अन्दर है, बाहर उतना तूफ़ान बाकी है|

447. किसी ना किसी पर किसी को ऐतबार हो जाता है , अजनबी कोई सखा यार हो जाता है , खूबियाँ से नहीं होती मोहब्बत सदा , कमियों से भी अकसर प्यार हो जाता है।

448. विश्वास वह पक्षी है, जो प्रभात के पूर्व अंधकार मेँ ही प्रकाश का अनुभव करने लगता है और गाने लगता है |

449. यूँ तो ए ज़िन्दगी तेरे सफर से शिकायते बहुत थी, मगर दर्द जब दर्ज कराने पहुँचे तो कतारे बहुत थी |

Read More  Top 100 Punjabi Shayari of 2019

450. छोड़ तो सकता हूँ, मगर छोड़ नहीं पाता उसे, वो शख्स मेरी बिगड़ी हुई आदत की तरह है |

451. ख़फा हैं कुछ लोग,इस कारण भी तुमसे उन्होंने चेहरे पे तुम्हारे कभी उदासी नहीं देखी |

452. सुबह सुबह उठना पड़ता है, कमाने के लिए,, आराम कमाने निकलता हूँ आराम छोड़कर |

453. दिल का हाल बताना नहीं आता किसी को ऐसे तड़पाना नहीं आता सुनना चाहते हैं आपकी आवाज़ मगर बात करने का बहाना नहीं आता |

454. जीवन के कुछ संबंध ऐसे होते हैं ! जो किसी पद या प्रतिष्ठा के मोहताज नहीं होते ! वे शाश्वत स्नेह और प्रेम की बुनियाद पर टिके होते हैं |

455. जिंदगी बहुत हैं शिकवे तुझसे! रहने दे मगर आज इतवार हैं |

456. हाल अपने दिल का, मैं तुम्हें सुना नहीं पाती हूँ जो सोचती रहती हूँ हरपल, होंठो तक ला नहीं पाती हूँ बेशक बहुत मोहब्बत है, तुम्हारे लिए मेरे इस दिल में पर पता नहीं क्यों तुमको, फिर भी मैं बता नहीं पाती हूँ |

457. वक्त सबको मिलता है, जिंदगी बदलने के लिए पर जिंदगी दोबारा नहीं मिलती वक्त बदलने के!

458. है मोहलत “चार” दिन की,, और हैं “सौ” काम करने को, हमें “जीना” भी है, “मरने” की तैयारी भी करनी है|

459. साथ अगर दोगे मुस्कराएंगे जरूर , प्यार अगर दिल से करोगे तो निभाएंगे जरूर , राह में कितने काँटे क्यों ना हो , आवाज़ अगर दिल से दोगे तो आएँगे जरूर |

460. तीन चीजें इंसान कभी नहीं खो सकता शांति, आशा, और ईमानदारी |

461. माथे को चूम लूँ मैं और उनकी जुल्फ़े बिखर जाये, इन लम्हों के इंतजार में कहीं जिंदगी न गुज़र जाये |

462. इस बात का एहसास किसी पर ना होने देना, कि तेरी चाहतों से चलती है हैं मेरी साँसे।

463. सुंदरता की तलाश में चाहे हम सारी दुनिया का चक्कर लगा आएं पर अगर वो हमारे अंदर नहीं है, तो कही नहीं मिलेगी |

464. ज़िन्दगी तो अपने दम पर ही जी जाती हे दूसरो के कन्धों पर तो सिर्फ जनाजे उठाये जाते हैं |

465. मुझे किसी कि ज़रूरत नहीं सिवाए तेरे मेरी नज़र को तलाश जिसकी बरसों से किसी के पास वो सूरत नहीं सिवाए तेरे जो मेरे दिल और ज़िन्दगी से खेल सके किसी को इतनी इजाजत नहीं सिवाए तेरे |

466. नाम बड़ा किस काम का जो काम किसी के ना आये, सागर से नदियॉं भली जो सबकी प्यास बुझाये |

467. एक ही समानता है पतंग औऱ जिन्दगी मॆं,, ऊँचाई में हो तब तक ही “वाह-वाह” होती हैं |

468. तेरे चेहरे में मेरा नूर होगा फिर तूँ ना कभी मुझसे दूर होगा सोच क्या ख़ुशी मिलेगी जान उस पल जिस पल तेरी माँग में मेरे नाम का सिंधूर होगा।

469. जीत हासिल करनी हो तो, काबिलियत बढ़ाओं, किस्मत की रोटी तो कुत्तों को भी नसीब होती है।

470. चौराहे पर खड़ी ज़िन्दगी, बीच रास्ते पड़ी ज़िन्दगी, बच्चों सी है शायद आज अपनी जिद पर अड़ी ज़िन्दगी |

471. नज़रें मिले तो प्यार हो जाता है , पलकें उठे तो इज़हार हो जाता है , ना जाने क्या कशिश है चाहत में , के कोई अनजान भी हमारी ज़िन्दगी का हक़दार हो जाता है।

472. अगर कोई व्यक्ति आपसे जलता है, तो ये उसकी बुरी आदत नही, बल्कि आपकी काबिलियत है, जो उसे ये काम करने पे मजबूर करती है।

473. कौन कहता है की ज़िन्दगी बहुत छोटी है सच तो ये है की हम जीना ही देर से शुरू करते है |

474. इश्क़ ने हमें बेनाम कर दिया , हर ख़ुशी से हमे अंजान कर दिया, हमने तो कभी नहीं चाहा कि हमें भी मोहब्बत हो, लेकिन आपकी एक नज़र ने हमें नीलाम कर दिया।

475. अगर लगने लगे कि लक्ष्यह हासिल नहीं हो पाएगा, तो लक्ष्यल को नहीं अपने प्रयासों को बदलें |

476. ज़िंदगी में कभी कभी अपनो से हारना सीखो, देख लेना जीत जाओंगे तुम |

477. बदलना आता नहीं हमे मौसम की तरह, हर इक रुत में तेरा इंतज़ार करते हैं, ना तुम समझ सकोगे जिसे क़यामत तक, कसम तुम्हारी तुम्हे हम इतना प्यार करते हैं।

Read More  Best Good Morning Shayari With Cute Images

478. एक मूर्ख खुद को बुद्धिमान समझता है, लेकिन एक बुद्धिमान व्यमक्ति खुद को मूर्ख समझता है!

479. तूफान भी आना, जरुरी है जिंदगी में तब जा कर पता चलता है ”कौन” हाथ छुड़ा कर भागता है और “कौन” हाथ पकड़ कर |

480. मजा चख लेने दो उसे गेरो की मोहबत का भी,इतनी चाहत के बाद जो मेरा न हुआ वो ओरो का क्या होगा।

481. भगवान से ना डरो तो चलेगा लेकिन कर्मो से जरूर डरना क्योंकि किए हुए कर्मो का फल तो भगवान को भी भोगना पड़ता है।

482. किसी की मजबूरी का.मजाक ना बनाओ यारों ज़िन्दगी कभी मौका देती है तो कभी धोखा भी देती है |

483. यूँ पलके बिछा कर तेरा इंतज़ार करते है , ये वो गुनाह है जो हम बार बार करते हैं , जलकर हसरत की राह पर चिराग, हम सुबह और शाम तेरे मिलने का इंतज़ार करते हैं।

484. बहुत से गुणों के होने के बावजूद भी, सिर्फ एक दोष सब कुछ नष्ट कर सकता है।

485. यूँ तो मोहब्बत की सारी हकीक़त से वाकिफ है हम, पर उसे देखा तो सोचा चलो ज़िन्दगी बर्बाद कर ही लेते है |

486. मुस्कान का कोई मोल नहीं होता , रिश्तों का कोई तोल नहीं होता, लोग तो मिल जाते है हर रस्ते पर , लेकिन हर कोई आपकी तरह अनमोल नहीं होता।

487. ज़िन्दगी कभी आसान नही होती इसे आसान बनाना पड़ता हे कुछ नज़र अंदाज करके कुछ को बर्दाश्त करके |

488. पति बाल कटवाकर घर लौटा और पत्नी से बोला, “देखो मैं तुमसे 10 साल छोटा लगता हूं या नहीं?” हाजिर जवाब पत्नी बोली, “मुंडन करवा ले ऐसा लगेगा अभी-अभी पैदा हुआ है।”

489. जो बदनाम थे कल तक, आज वो सुखनवर हो गए जो थे कल तक बाहर, आज दिलों के अंदर हो गए हम तो आज भी एक कतरा हैं रुके हुए पानी का, पर लोग देखते ही देखते, कतरे से समंदर हो गए |

490. तुम्हे हक है अपनी जिन्दगी जैसे चाहे जीयो तुम, ज़रा एक पल के लिये सोचना मेरी ज़िन्दगी हो तुम |

491. बेझिझक मुस्कुराये जो भी गम है, जिंदगी में टेंशन किसको कम है, अच्छा या बुरा तो केवल भ्रम है, जिंदगी का नाम ही कभी ख़ुशी कभी गम है।

492. ना तस्वीर है उसकी की दीदार किया जाये , ना पास है वो जो उसे प्यार किया जाये, यह कैसा दर्द दिया है उस बेदर्द ने , ना उससे कुछ खा जाये , ना उसके बिन रहा जाये।

493. “पैसा” कमाने के लिये इतना वक़्त⏰खर्च ना करो की, “पैसे” खर्च करने के लिये ज़िन्दगी में वक़्त ही ना मिले।

494. आसाराम, रामपाल, और बाबा राम रहीम पर आरोप के बाद कोई मनचला निर्मल बाबा के घर के बाहर एक बोर्ड टांग गया |

495. क़यामत टूट पड़ती है, ज़रा से होंठ हिलने पर ! जाने क्या हस्र होगा, जब वो खुलकर मुस्कुरायेंगे |

496. घड़ी⏰ की टिक टिक को मामूली न समझो बस यूँ समझ लीजिये ” ज़िन्दगी ” के पेड़ पर कुल्हाड़ी के वार है |

497. अकेला ही चला था जानिब-ए-जेल मगर, बाबा आते गए और काफिला बनता गया |

498. मेरे दिल में तेरे लिए प्यार आज भी है माना कि तुझे मेरी मोहब्बत पर शक आज भी है नाव में बैठकर जो धोए थे हाथ तूने पूरे तालाब में फैली मेंहदी की महक आज भी है |

499. दुनिया का सबसे बेहतरीन रिश्ता वहीं होता है जहाँ एक हल्की सी मुस्कराहट और छोटी सी माफ़ी से ज़िन्दगी दोबारा पहले जैसी हो जाती है |

500. मोहब्बत में जब मुझे धोखा मिला तो ज़िन्दगी में चारो ओर उदासी छा गयी सोचा था की आग लगा दूंगा इस दुनिया को पर कम्भख्त कॉलोनी में दूसरी आ गयी |

4.4 (88.89%) 9 votes