Shayari: 10,000+ Best Hindi Shayari Collection of 2019

501. लिखी कुछ शायरी ऐसी तेरे नाम से कि,जिसने तुम्हे देखा भी नही उसने भी तेरी तारीफ कर दी |

502. एक अजीब सी दौड़ है ये ज़िन्दगी जीत जाओ तो कई अपने पीछे छूट जाते हैं, हार जाओ तो अपने ही पीछे छोड़ जाते हैं ।

503. 10 और 20 व 50 के नोट के दादाजी व 100 के नोट के पुज्य पिताजी श्री 500 के व 1000 के नोट का अभी अभी निधन हो गया है । वे कालेधन के मुख्य संगठक थे वही धन्नासेठो के मसीहा थे । अंतिम यात्रा कल 8 तथा उठावना 11 को होगा ।

504. किसी उदास मौसम में, मेरी आँखों पे वो हाथ रख दे अपना, और हस्ती हुई कह दे, पहचान लो तो हम तुम्हारे ना पहचानो तो तुम हुमारे |

505. जिस दिन आपने अपनी जिन्दगी को खुलकर जी लिया, वही दिन आपका है, बाकी तो सिर्फ केलेंडर की तारीखें हैं।

506. वाह रे वाह मोदी जी क्या दिमाग लगाया है काले धन का तो पता नहीं पर घरो की औरतो के खजाने का तो पता चल ही जायेगा |

507. मेरी साँसों में बिखर जाओ तो अच्छा है बन के रूह मेरे जिस्म में उतार जाओ तो अच्छा है किसी रात तेरी गोद में सिर रख कर सो जाऊँ मैं उस रात की कभी सुबह ना हो तो अच्छा है |

508. “शौक पूरे कर लो ज़िन्दगी तो खुद ही पूरी हो जाएगी एक दिन |

509. महिलाओ में मोदी जी के फैसले से नाराजगी पति से छिपकर रखे खजाने पर सर्जीकल अटैक |

510. तन्हाईयों में मुस्कुराना इश्क है; एक बात को सबसे छुपाना इश्क है; यु तो नींद नहीं आती हमें रात भर; मगर सोते-सोते जागना और जागते-जागते सोना इश्क है |

511. जिन्दंगी को समझना बहुत मुशकिल हैं. कोई सपनों की खातिर “अपनों” से दूर रहता हैं और , कोई “अपनों” के खातिर सपनों से दूर |

512. आज रात जिस घर की लाइट्स जलती दिखे समझ लो की नोटों की गिनती चल रही हैं |

513. तुझे इनकार है मुझसे, मुझे इकरार है तुझसे, तू खफा है मुझसे, मुझे चाहत है तुझसे, तू मायूस है मुझसे, मुझे खुशी है तुझसे, तुझे नफ़रत है मुझसे और मुझे प्यार है तुझसे |

514. ज़रा मुस्कुराना भी सीखा दे ऐ ज़िंदगी रोना तो पैदा होते ही सीख लिया था |

515. कल रद्दी वाले आवाज लगायेंगे लो लो भाई 10 रुपयों किलो 500 के नोट 20 रुपयों किलो 1000 के नोट |

516. मोहब्बत करने चला है, तो कुछ अदब भी सीख लेना ऐ दोस्त इसमें हंसते साथ हैं, पर रोना अकेले ही पड़ता है|

517. मत सोच इतना. जिन्दगी के बारे में , जिसने जिन्दगी दी है उसने भी तो कुछ सोचा होगा |

518. चीटिंग है — काला धन बाहर से लाने का कहा था- ये अंदर का निकाल रहे है!

519. क्यूँ हम किसी के ख्यालो मे खो जाते है, एक पल की दूरी मे रो जाते है कोई हमे इतना बता दो की,हम ही ऐसे है या प्यार करने के बाद सब ऐसे हो जाते है |

520. ज़िदगी जीने के लिये मिली थी, लोगों ने सोचने में ही गुज़ार दी |

521. कृपया दान पेटी में 500 अथवा 1000 के नोट न डालें।

522. तू मुझमें पहले भी था , तू मुझमें अब भी है। पहले मेरे लफ्जों में था अब मेरी खामोशियों में है।

Read More  Top 20 Friendship Day Shayari in English 2019

523. जिंदगी को इतना सिरियस लेने की जरूरत नही यारों, यहाँ से जिन्दा बचकर कोई नही जायेगा |

524. में धारक को 500 और 1000 रुपए के नोट अदा करने का वचन वापस लेता हूँ |

525. प्यार जब मिलता नही तो होता ही क्यूँ है” “अगर ख्वाब सच नही होते तो इंसान सोता क्यू है” “जब यही प्यार आँखो के सामने किसी और का हो जाए” “तो फिर यह पागल दिल इतना रोता क्यूँ है”|

526. भरोसे पे ही “जिंदगी” टीकी है वरना कौन कहता “फ़िर मिलेंगे”|

527. आज रात को आराम से सोये चोर भी आने से पहले 100 बार सोचेगा |

528. मेरी वफ़ाएँ याद करोगे, रोओगे फरियाद करोगे, मुजको तो बर्बाद किया हे, अब ओर किसे बर्बाद करोगे |

529. सिर्फ सांसें चलते रहने को ही ज़िंदगी नहीं कहते आँखों में कुछ ख़्वाब और दिल में उम्मीदें होना भी ज़रूरी हैं|

530. 500 और 1000 के अकास्मिक मृत्यु। 100 का नोट, बना परिवार का मुखिया। पगड़ी रस्म कल।

531. कहा मिलेगा तुम्हे मुझ जैसा कोई; जो तुम्हारे सितम भी सहे; और तुमसे मोहब्बत भी करे |

532. जिन्दगी की हर सुबह कुछ शर्ते लेकर आती है, और जिन्दगी की हर शाम कुछ तजुर्बे देकर जाती है |

533. मैंने पूछा उनसे, भुला दिया मुझको कैसे चुटकियाँ बजा के वो बोली ऐसे, ऐसे, ऐसे |

534. अब तो गम सहने की आदत सी हो गयी है रात को छुप – छुप रोने की आदत सी हो गयी है तू बेवफा है खेल मेरे दिल से जी भर के हमें तो अब चोट खाने की आदत सी हो गयी है |

535. “हर रोज गिरकर भी, मुक्कमल खड़े हैं ए जिंदगी देख, मेरे हौसले तुझसे भी बड़े हैं |

536. हसीनों से मिलें नज़रें अट्रैक्शन हो भी सकता है, चढ़े फीवर मोहब्बत का तो एक्शन हो भी सकता है, हसीनों को मुसीबत तुम समझ कर दूर ही रहना, ये अंग्रेजी दवाएं हैं रिएक्शन हो भी सकता है |

537. कुछ चीज़े हम पुरानी छोड़ आए हैं, आते आते उसकी आँखो मे पानी छोड़ आए हैं, ये ऐसा दर्द है जो बया हो ही नही सकता दिल तो साथ ले आए धड़कन छोड़ आए हैं |

538. जिंदगी में सिर्फ ‘पाना’ ही सबकुछ नहीं होता, उसके साथ नट-बोल्ट भी चाहिए ।

539. मुझको अज़ीज़ है वही मोहब्बत जिसमें उजड़ गया संसार मेरा |

540. हर दिल का एक राज़ होता है, हर बात का एक अंदाज़ होता है जब तक ना लगे बेवफ़ाई की ठोकर , हर किसी को अपनी पसंद पर नाज़ होता है |

541. यहां खुदा है, वहां खुदा है, आस पास खुदा ही खुदा है, और जहां खुदा नहीं है, वहां कल खुदेगा ।

542. मोहब्बत के ज़ख्म बेहद खुबसूरत हैं इन ज़ख्मों को यूँ तो ना सिया कर |

543. इस बात का एहसास किसी पर ना होने देना के तेरी चाहतों से चलती है मेरी साँसें |

544. पत्नी अर्धांगिनी होती है, इसलिए उसे आधी जानकारी ही दें, जीवन के आधे कष्ट कम हो जायेंगे |

545. हम मोहब्बत की जुबाँ समझते हैं भई आप ये जुबाँ बोलते हैं क्या |

546. क्या विश्वास नही तुम्हे हमारे विश्वास पे आज तुम फिर से ज़रा मेरी बातों पे एतबार तो करो यूँ ना कहो मुझे बेवफा, मैं बेवफा नही हूँ तुम मेरी वफ़ा को ज़रा समझने की कोशिश तो करो |

547. अपनी इंडिया में सरकार हो या शादी, बको एक साल में खुश खबरी चाहिए |

Read More  Top 20 Gulzar Shayari That Will Make You Feel Alive

548. मोहब्बतों की हदें देखना चाहता है हमारी सब्र हमारा अब आज़माने लगा है वो |

549. वो मोहब्बत भी तेरी थी, वो नफ़रत भी तेरी थी, वो अपनाने और ठुकराने की अदा भी तेरी थी, मैं अपनी वफ़ा का इंसाफ़ किस से माँगता वो शहर भी तेरा था, वो अदालत भी तेरी थी |

550. पगली प्यार दिखाएगी तो प्यार पाएगी एट्टीटुड दिखाएगी तो थप्पड खाएगी |

551. मुझे मोहब्बत थी जिससे बेहद ही कभी उसे अब देखूं तो बेवफा सी लगती है |

552. आंसूओ तले मेरे सारे अरमान बह गये जिनसे उमीद लगाए थे वही बेवफा हो गये, थी हमे जिन चिरागो से उजाले की चाह वो चिराग ना जाने किन अंधेरो में खो गये |

553. कभी कभी ऐसी लडकी से शादी हो जाती है, जिसे लडका खुद सात जन्म तक नहीं पटा सकता |

554. तेरा रूप ढला हो लेकिन कशिश नहीं तुझसे आज भी उतनी ही मोहब्बत है |

555. ज़िन्दगी का फलसफा भी कितना अजीब है, शामें कटती नहीं, और साल गुज़रते चले जा रहे है |

556. मैं भी तेरे ईश्क में आतंकवादी बन जाऊं, तुझे बांहो में ले के बम से उड़ जाऊ |

557. “आकाश” ना आई तुम्हें करने मोहब्बत जिससे हो मोहब्बत उसे कोसते हैं क्या |

558. ज़रूरी तो नहीं के शायरी वो ही करे जो इश्क में हो, ज़िन्दगी भी कुछ ज़ख्म बेमिसाल दिया करती है।

559. नींद तो ठीक ठाक आई , पर जैसे ही आँख खुली, फिर वही ज़िन्दगी और वो याद आई |

560. बड़ी दिल-फरेब थी वो मोहब्बत धुंधला से रहे हैं जिसके फ़साने |

561. अकेले ही गुज़रती है ज़िन्दगी लोग तसल्लियां तो देते हैं , पर साथ नहीं |

562. मेरे नजदीक आ के देख मेरे अहसास की शिद्दत, ये दिल कितना धड़कता है,,तेरा नाम आने पर |

563. मोहब्बत रोग बन जाये तो छोड़ देना तुम किसी के लिए ज़िन्दगी ज़ाया की नहीं जाती |

564. जीवन की सुबह में कभी सांझ न हो जो मिल न सके रब से वो मांग न हो खूब चमकें सितारे खुशियों के ज़िन्दगी कभी अमावस का चाँद न हो |

565. सीने से लगा के सुन वो धड़कन जो हर पल तुझसे मिलने की ज़िद करती है |

566. मोहब्बत नहीं इबादत की है तेरी क्यों मेहरबां कोई तेरी चश्म नहीं होती |

567. सही वक़्त पर पिए गए “कड़वे घूंट” अक़्सर ज़िन्दगी “मीठी” कर दिया करते है” |

568. मेरे घर की दर ओ दीवार पर अब आइना नहीं जब जी करता है ख़ुद को तेरी आँखो में देख लेता हूँ |

569. मैं ख़ामोशी तेरे मन की, तू अनकहा अलफ़ाज़ मेरा मैं एक उलझा लम्हा, तू रूठा हुआ हालात मेरा |

570. रास्ता तू ही और मंज़िल तू ही, चाहे जितने भी चलूँ मैं कदम, तुझसे ही तो मुस्कुराहटें मेरी, तुझ बिन ज़िन्दगी भी है सूनी |

571. न चाहकर भी मेरे लब पर ये फ़रियाद आ जाती है, ऐ चाँद सामने न आ किसी की याद आ जाती है |

572. सौदा कुछ ऐसा किया है तेरे ख़्वाबों ने मेरी नींदों से या तो दोनों आते हैं, या कोई नहीं आता |

573. तकदीरें बदल जाती हैं, जब ज़िन्दगी का कोई मकसद हो; वर्ना ज़िन्दगी कट ही जाती है ‘तकदीर’ को इल्ज़ाम देते देते |

574. जब रात को आपकी याद आती है सितारों में आपकी तस्वीर नज़र आती है खोजती है निग़ाहें उस चेहरे को याद में जिसकी सुबह हो जाती है |

Read More  Top 100 Motivational Shayari of 2019

575. जब नफ़रत करते करते थक जाओ तो एक मौका प्यार को भी दे देना |

576. ये ज़िन्दगी जो मुझे कर्ज़दार करती रही, कभी अकेले में मिले तो हिसाब करूँ |

577. यूँ दूरियों की आग में सुलगती है जाँ छुटता नही है दिल से तेरी याद का धुआँ |

578. सुना था मोहब्बत मिलती है, मोहब्बत के बदले हमारी बारी आई तो, रिवाज हि बदल गया |

579. धीरे धीरे उम्र कट जाती है, जीवन यादों की पुस्तक बन जाती है, कभी किसी की याद बहुत तड़पाती है और कभी यादों के सहारे ज़िन्दगी कट जाती है |

580. नींद को आज भी शिकवा है मेरी आँखों से, मैंने आने न दिया उसको तेरी याद से पहले |

581. बेवफा कहने से पहले मेरी रग रग का खून निचोड़ लेना कतरे कतरे से वफ़ा ना मिले तो बेशक मुझे छोड़ देना |

582. दो रोज़ तुम मेरे पास रहो दो रोज़ मैं तुम्हारे पास रहुं चार दिन की ज़िन्दगी है ना तुम उदास रहो ना मैं उदास रहुं |

583. ये मत कहना कि तेरी याद से रिश्ता नहीं रखा; मैं खुद तन्हा रहा मगर दिल को तन्हा नहीं रखा |

584. प्यार मोहब्बत चाहत इश्क़ जिन्दगी उल्फ़त एक तेरे आने से कितना बदल गई किस्मत |

585. “दहशत” सी होने लगी है इस सफ़र से अब तो ए-ज़िन्दगी कहीं तो पहुँचा दे ख़त्म होने से पहले |

586. रात हुई जब शाम के बाद! तेरी याद आई हर बात के बाद! हमने खामोश रहकर भी देखा! तेरी आवाज़ आई हर सांस के बाद |

587. ठहर सके जो लबों पे हमारे हँसी के सिवा, है मजाल किसकी |

588. फटी जेब सी ज़िन्दगी, सिक्को से दिन लो आज फिर इक गिर कर गुम हो गया |

589. हो जाओ गर तनहा कभी तो मेरा नाम याद रखना मुझे याद हैं सितम तेरे , तू मेरा प्यार याद रखना |

590. तुम पल भर के लिए दूर क्या जाते हो तो हम ‘बिखरने’ से लगते हैं |

591. मेरी ज़िन्दगी में खुशियाँ तेरे बहाने से है, आधी तुझे सताने से है, आधी तुझे मनाने से है |

592. इन आँखों ने भी दम तोड़ दिया तेरे आने के एतबार में मुझे याद है वादा फरोशी तेरी तू ये इंतज़ार याद रखना |

593. मुझे क़बूल है हर दर्द हर तकलीफ़ तेरी चाहत में सिर्फ़ इतना बता दो क्या तुम्हें मेरी मोहब्बत क़बूल है |

594. चाहा है तुझ को तेरी तग़ाफ़ुल के बावजूद; ए ज़िन्दगी तू याद करेगी कभी हमें |

595. गम ने हसने न दिया ज़माने ने रोने न दिया इस उलझन ने चैन से जीने न दिया थक के जब सितारों से पनाह ली तो तेरी याद ने सोने न दिया |

596. मैं खुद भी अपने लिए अजनबी हूं मुझे गैर कहने वाले तेरी बात मे दम है |

597. मरता नहीं कोई किसी के बगैर ये हकीकत है ज़िन्दगी की लेकिन सिर्फ सांसें लेने को `जीना` तो नहीं कहते |

598. जीने को कोइ बहाना बता दो तेरी याद में रोज़ मरती हूँ मैं |

599. ज़िन्दगी में कई ऐसे लोग भी मिलते हैं जिन्हें हम पा नहीं सकते सिर्फ चाह सकते हैं |

600. बाद मुद्दत के यह घडी आई आप आये तो ज़िन्दगी आई इश्क मर-मर के कामयाब हुआ आज एक ज़र्रा आफताब हुआ |