Whatsapp Status: 10,000 Best Hindi Status

whatsapp statusWhatsapp Status is the best feature on the Whatsapp, especially you love short status in the Hindi language with Hindi fonts right?

Therefore we decided to make some cool WhatsApp status and attitude WhatsApp status collection for you. But Whatsapp Status has some limitation, hence we have picked only one line status for you and it will be daily updated. More New Year

It will help you to express your feelings and emotion in front of you Whatsapp friends. Even you can use them on your Whatsapp groups to entertain your group friends. Here Halloween

We have collected one of the best collection of Whatsapp Status on the internet for you. It will be 100% unique and fresh, don’t forget to share it with your friends. Here Merry Christmas


Whatsapp Status, One Line Status For WhatsApp.

नजर झुका के बात कर पगली, जीतने तेरे पास कपडे नही होन्गे, उतने तो मे रोज लफडे करता हुं।

खामोश रहता हूँ क्योंकि अभी दुनिया को समझ रहा हूँ. समय जरूर लगेगा पर जिस दिन दांव खेलूंगा उस दिन खिलाड़ी भी मेरे होंगे. और खेल भी मेरा होगा।

ना तेरे आने की खुशी ना तेरे जाने का गम बीत गया वो जमाना जब तेरे दिवाने थे हम।

एक लड़की‬ आकर बोलती है, मुझे आपसे मिलना है, मै ने बोला ये‪ टोकन‬ ले और लाइन मे लगजा।

जिन तूफानों में लोगो के झोपड़े उड़ जाते है, उन तूफानों में तो ‘Hum’ कपड़े सुखाते हैं।

कुछ लड़के ‪Bike‬ ऐसे चलाते हैं, जैसे अपने घर पर बोल कर आये हो, या तो मै आऊंगा, या फिर मेरे मरने की खबर।

शुरुआत से देखने का शोख है हमे! चाहे वो फिल्म हो या दुश्मनकी बर्बादी।

मैं Famous हूँ क्युकि में सच लिखता हूँ, तभी आज ज़माने में सबसे मेंहंगा बिकता हूँ।

औकात की बात मत कर पगली, हम तो Autograph देने के लीए 2-3 आदमी रखते है।

हुकुमत हमारा ‪Khwab‬ है, पर गुलामी भी ‪लाजवाब‬ है, अगर तुम लङकियां ‎शबाब‬ हो, तो हम लङके भी ‪नवाब‬ हैं।

हर किसी को हमेशा ये सोचना चाहिए, गलती चाहे किसी की भी हो पर रिश्ता तो अपना होता है।

जो इंसान सबको ख़ुशी देता हो वो कभी कभी खुद ख़ुशी की वजह ढूँढता है।

दिल वो है जो हज़ारों मरी हुई ख्वाइशों के नीचे दब कर भी धड़कता है।

जो मन की तकलीफों को नहीं बता पता – उसे ही क्रोध सबसे अधिक आता है।

सच बोलने से रिश्ते टूटते हैं और झूठ बोलने से मैं खुद।

अच्छे इन्सान में एक बुरी बात होती है, वो सबको अच्छा समझ लेता है।

बात कहने का अंदाज़ भी खूबसूरत होना चाहिए ताकि जवाब भी खूबसूरत मिले।

आज भी हर समस्या का अंतिम हल माफ़ी ही है।

सबूतों की ज़रुरत पड़ रही है, यकीनन दूरियां अब बढ़ रही है।

जो कभी लिपट जाती थी मुझसे बादलों के गरज़ने पर, आज वो बादलों से भी ज्यादा गरजती है मुझपर।

जहाँ रहेगा वहाँ रौशनी लुटाएगा, किसी चिराग़ का अपना मकान नहीं होता।

हसरतें आज भी खत लिखती हैं मुझे, पर मैं अब पुराने पते पर नहीं रहता।

कोई मेरा बुरा करे वो उसका कर्म, मैं किसी का बुरा ना करुँ ये मेरा धर्म।

मौत सबको आती है पर जीना सबको नहीं आता।

दिल की ख़ामोशी पर मत जाओ, राख के नीचे अकसर आग दबी होती है।

इलायची के दानों सा है मुकद्दर मेरा, महक उतनी ही बिखरी जितने पिस्ते गए।

समय और समझ खुशकिस्मत वालों को ही इकठी मिलती है, वरना जब समय होता है तो समझ नहीं होती और जब समझ आती है तब समय नहीं होता।

ज्यादा ख़्वाहिशें न रखिये जिंदगी से, बस अगला कदम पिछले से बेहतरीन होना चाहिए।

सामने जो है, उसे लोग बुरा कहता है और जो दिखाई नहीं देता लोग उसे खुदा कहता हैं।

खेल जो भी खेलो दिमाग से खेलना जीत जाओगे… दिल को बीच मे लाए तो हार जाओगे।

उनको लगी खरोंच का पता पूरे शहर को है, हमारे गहरे ज़ख्म की कहीं चर्चा तक नहीं

तन्हाई का दर्द धोखे से ज्यादा बड़ा होता है… धोखा उसके बगैर जीना सिखा देता है , लेकिन तन्हाई उसकी यादों में जीना सीखा देती है

कुछ तुम्हारी निगाह काफ़िर थी कुछ मुझे खराब होना था

किसी ने सही कहा है, जो कुछ नहीं करते, वो बहुत कुछ कर सकते हैं। 😎👌😍😁

कम बोलो पर सब कुछ बता दो, ख़ुद ना रूठो और सबको हंसा दो, यही राज है जिन्दगी का, जियो और जीना सिखा दो

गुस्ताख़ी और ग़लती में बहुत फर्क होता है मेरे दोस्त

फ़रिश्ते ही होंगे जिनके लिए आप Busy है, वरना आजकल इंसान से रोज़ रोज़ बात कौन करता है

वो मंजिल ही बदनसीब थी जो हमें पा ना सकी, वरना जीत की क्या औकात जो हमें ठुकरादे

रास्तों की दूरी कम करते करते… मंजिल मेरी मुझसे दूर हो गयी

राशि में लिखा है नए रिश्ते बना लूँ… छोड़िए जनाब !!! पहले… पहले तो निभा लूँ

सो गए सब ग़मों को भुलाकर, शायद कल खुशियों की सुबह हो जाए

वो शख्स , जिसे छोड़ने की जल्दी की तुमने… तेरे मिज़ाज के सांचे में ढल भी सकता था!

मेरे कड़वे अल्फ़ाज़ चुभ गए तुम्हे… साफ दिल नही नज़र आया

कभी बेपनाह बरसे, कभी कुछ गुम सी है, कमबख्त ये बारिश भी कुछ तुम सी है

सहमी हुई है झोपड़ी , पानी के ख़ौफ़ से… महलों की आरज़ू है की, बरसात तेज़ हो।

संभाल के रखना अपनी पीठ को यारो शाबाशी और खंजर दोनो वहीं पर मिलते है।

हमसे ना पूछो कि क्यों बदल गए हैं हम… धीमी आँच पर पक-पक कर… जल गए हैं हम।

जुबां तीखी हो तो खंजर से गहरा जख्म देती है, और मीठी हो तो वैसे ही कत्ल कर देती है।

तेरे पास कोई यकीन का इक्का हो तो बताना मेरे हिस्से के सभी पत्ते तो जोकर निकले।

रूबरू मिलने का मौका हमेशा नहीं मिलता, इसलिए,शब्दों से छू लेता हूँ अपनो को।

घाटे और मुनाफे का बाज़ार नहीं… इश्क़ एक इबादत है, कारोबार नहीं

जैसे जैसे उम्र गुजरती है एहसास होने लगता है कि माँ बाप हर चीज़ के बारे में सही कहते थे।

बचपन मे सब एक ही सवाल पूछते थे… बड़े होकर क्या बनना है ? जवाब अब मिला मुझे फिर से बच्चा बनना है।

अपने देश में राय देने वालों की कोई कमी नहीं है इस पर आपकी क्या राय है।

सकून की एक रात भी नहीं ज़िन्दगी में, ख्वाइशों को सुलाओ… तो यादें जाग जाती हैं।

इस जवानी से तो बचपन अच्छा था जब कुछ बुरा लगता था वही रो देते थे , अब तो रोने के लिए भी जगह ढूँढनी पड़ती है।

बचपन मे सब एक ही सवाल पूछते थे… बड़े होकर क्या बनना है ? जवाब अब मिला मुझे फिर से बच्चा बनना है।

सुबह की ख्वाइशें शाम तक टाली है, इस तरह हमने ज़िन्दगी सम्भाली है।

कुछ रिश्ते मुनाफ़ा नहीं देते पर ज़िन्दगी को अमीर बना देते हैं।

सारा जहाँ उसी का है जो मुस्कुराना जानता है. रौशनी भी उसी की है जो शमा जलाना जानता है. हर जगह मंदिर हैं लेकिन भगवान तो उसी का है जो सर झुकाना जानता हैं।

कई बार ऐसा भी होता है. इंसान किसी को हौंसला देते – देते खुद ही टूट जाता है

उलझने मीठी भी हो सकती है, जलेबी की मिठाई इसका सबूत है

रिश्ता सिर्फ वो नहीं जो गम या ख़ुशी में साथ दे, रिश्ता वो है जो अपनेपन का एहसास दे.

क्या खूब रंग दिखती है ज़िन्दगी… क्या इत्तेफ़ाक़ होता है, प्यार में उम्र नहीं होती, पर हर उम्र में प्यार होता है

उम्र में, ओहदे में, कौन कितना बड़ा है फर्क नहीं पड़ता, लहज़े में कौन कितना झुकता है ? फर्क ये पड़ता है

बोलने का हक़ छिना जा सकता है, मगर खामोशी का कभी नहीं

कई बार हमारे साथ कुछ ऐसे हादसे हो जाते हैं जिनके बारे में हम सोचते रहते हैं क़ि ये कब, कहाँ … कैसे और क्यों हुआ…और यकीन मानिये “प्यार” इनमे से सबसे खतरनाक है

परखा बहुत गया मुझे, लेकिन समझा नहीं गया.

रख लो आइने हजार तसल्ली के लिए. पर सच के लिए तो,आँखे ही मिलानी पड़ेगी

शिकायत मौत से नहीं अपनों से थी, ज़रा सी आँखें क्या बंद हुई , वो कब्र खोदने लगे।

चाहतें मेमने से भी भोली हैं, पर ज़माना कसाई से भी ज़ालिम है

पागल हो जाने के भी अपने फायदे हैं , लोग पत्थर उठा लेंगे मगर ऊँगली नहीं उठाएँगे

जब हम रिश्तों के लिए वक़्त नहीं निकाल पाते तब वक़्त हमारे बीच से रिश्ता निकाल देता है

दौर नहीं रहा अब किसी से वफ़ा करने का , हद से ज्यादा प्यार करो तो लोग मतलबी समझने लग जाते है

हम तो मज़ाक में भी किसी का दिल दुखाने से डरते हैं , पता नहीं लोग कैसे सोच समझ कर दिलों से खेल जाते हैं

मेरी ना सही तेरी होनी चाहिए, किसी एक की तो तमन्ना पूरी होनी चाहिए

ये ख्वाहीशो के काफीले भी कमाल होते है, कम्बख्त गुझरते वही से है जहा रास्ते नही होते

बस इबादत में कमी है ज़नाब , वरना ख़ुदा तो हर जग़ह मौजूद है।

तुम शब्द मैं अर्थ, तुम बिन मैं व्यर्थ

ना हथियार से मिलते है, ना अधिकार से मिलते है, दिलो में जगह अपने व्यवहार से मिलते है

मेरी हर ख्वाइश में सिर्फ तुम होते हो , बस दर्द ये है कि सिर्फ ख्वाईशों में ही क्यों होते हो

सच्चे किस्से शराब खाने में सुने वो भी हाथ मे जाम लेकर, झूठे किस्से अदालत में सुने वो भी हाथ मे गीता-कुरान लेकर

दुनिया की सारी ख़ुशी मौजूद हो, लेकिन घर 🏠 में बेटी ना हो तो घर 🏠 अच्छा नहीं लगता

अच्छे विचारों का असर आज कल इसलिए नहीं होता, 😒 क्यूंकि लिखने वाले और पढने वाले दोनो ये समझते है कि ये दूसरों के लिए है 😌😒

कमबख्त दिल भी कमाल करता है, जब खाली खाली होता है तो भर आता है

सोचा था घर बना कर सकून से बैठूंगा पर घर की जरूरतों ने मुसाफिर बना दिया।

उम्र ढलने पर समझ में ज़िन्दगी आने लगी, जब सिमटने लग गए पर, आसमाँ खुलने लगा

हर चीज़ की कीमत समय आने पर ही होती है, मुफ्त में मिलता हुआ ये ओक्सिजन, अस्पताल में बहुत महंगा बिकता है।

ज़िन्दगी बदलने के लिए लड़ना पड़ता है और आसान बनाने के लिए समझना पड़ता है

बड़ी मंज़िलों के मुसाफ़िर, छोटा दिल नहीं रखते

एहसास कभी कह कर नहीं करवाया जाता

एक सच : आपका सबसे अच्छा दोस्त किसी और जाति से होगा और आपका सबसे बड़ा दुश्मन आपका कोई अपना ही होगा

खुशियों का कोई रास्ता नहीं , खुश रहना ही रास्ता है

मन की शान्ति सबसे बड़ा धन है

लोग रिश्ते छोड़ देते है पर बहस नहीं

इन्सान सब कुछ बदल सकता है पर अपनी फिदरत नहीं

मुझे शौहरत कितनी भी मिले मैं हसरते नहीं रखता , मैं सब भूल जाता हूँ, पर दिल में नफरतें नहीं रखता

समय बहाकर ले जाता है , नाम और निशान !! कोई “हम” में रह जाता है कोई “अहम” में।

सामान बाँध लिया है मैंने , अब बताओ कहाँ रहते हैं वो लोग जो कहीं के नहीं रहते।

सहम सी गयी है ख्वाइशें , जरूरतों ने शायद उनसे ऊँची आवाज़ में बात की होगी।

है रूह को समझना भी जरूरी , सिर्फ हाथ पकड़ना ही मोहब्बत नहीं होती।

लगता है ज़िन्दगी आज कुछ खफा है, चलिए छोड़िये , कौन सी पहली दफा है।

फ़ितूर होता है हर उम्र में जुदा – जुदा, खिलौना, इश्क़ पैसा फिर खुदा खुदा

कुछ अधूरी सी है हम दोनों की ज़िन्दगी, तुम्हें सकून की तालाश है और मुझे तुम्हारी

वो जो मुझे हँसते हुए देख कर खुश समझते हैं, वो अभी मुझे समझे नहीं।

किसी ने खूब कहा है – अँधेरा दिल में है और दिये मन्दिरों में जलाते हैं

दिल की बात साफ़ साफ़ बता देनी चाहिए, क्योंकि बता देने से फैसले होते हैं और ना बताने से फाँसले

कभी तो अपने लहज़े से ये साबित कर दो कि तुम भी बेपनाह मोहब्बत करते हो हमसे

अहमियत और दूरियों में अनोखा रिश्ता है, दोनों एक साथ बढ़ती हैं

करके कुर्बान अपनी खुशियो 😊 को, दूसरो की खुशी 😊 में अपनी खुशी 😊 को देखा है .. शुक्रगुजार है हम तेरे …खुदा जो तुने नारी रुप में साक्षात् देवी को भेजा है

जो माँगू वो दे दिया कर ऐ ज़िन्दगी, तू बस मेरी माँ जैसी बन जा 😌

दिल ❤ की ➡ क्युँ ❔सुनें 👂 दिल ❤ में दिमाग होता 😏 है क्या ❔❔❔

प्यार 😘 तो हम दोनों ने किया था मैंने 😎 बहुत किया था और उसने बहुतों से किया था

नहीं जीना मुझे अब उस नकली अपनों के मेले में, खुश रहने की कोशिश कर लूंगा खुद हीं अकेले में

ज़िन्दगी आखिरकार 😢 रुला ही देती है… जनाब, फिर चाहे हम माँ बाप के कितने ही लाड़ले क्यूं ना हो

दुनिया का सबसे मुश्किल काम ‘अपनों को अपनों में ढूंढना’

खुद को ढूंढने का नहीं, बनाने का नाम है ज़िन्दगी

सब्र रख तेरी कदर उसे वक़्त बताएगा

4.8 (96%) 5 votes